Tuesday, 5 September 2017

गृहमंत्री राजनाथ व सीएम योगी ने लखनऊ में की मेट्रो युग की शुरूआत

गृहमंत्री राजनाथ व सीएम योगी ने लखनऊ में की मेट्रो युग की शुरूआत



 नवाबों की नगरी में मंगलवार से मेट्रो युग की शुरुआत हो गई। राजधानी के लिए बहुप्रतीक्षित इस योजना की पहली ट्रेन को गृहमंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया और चारबाग तक की यात्रा भी की। इससे पहले उन्होंने राजधानी में सात नए हाई ओवरब्रिज समेत कई योजनाओं की घोषणा की।

मेट्रो रेल के पहले चरण का उद्घाटन करते हुए गृहमंत्री ने राजनाथ सिंह ने कहा कि लखनऊ की स्मार्टनेस आज बढ़ गई है। मेट्रो से न सिर्फ पर्यावरण संकट से निजात मिलेगी, बल्कि विकास की संभावनाओं के नए द्वार खुलेंगे। मेट्रो से यहां विश्वस्तरीय ट्रंसपोर्टेशन की शुरुआत हो गई है। राजधानी में तीन साल के भीतर ही ङ्क्षरग रोड का निर्माण हो जाएगा।

गृहमंत्री ने कहा कि राजधानी में जाम की समस्या दूर करने के लिए सात नए हाई ओवरब्रिज बनाए जाएंगे। इसका डीपीआर दिसंबर तक तैयार हो जाएगा। इसके साथ चारबाग स्टेशन पर भीड़ कम करने के लिए कैंट की और दूसरी इंट्री की स्वीकृति मिल गई है। इसके लिए 81 करोड़ रुपये का बजट है। चारबाग में चार नए रेलवे ट्रैक और दो नए प्लेटफार्म भी बनाए जाएंगे। आलमनगर भी सेटेलाइट स्टेशन बनेगा। उन्होंने बताया गोमतीनगर में स्टेशन के लिए 513 करोड़ रुपये स्वीकृत हुए है। यहां छह नए प्लेटफार्म बनेंगे, जिनमें दो शुरू हो गए हैैं। इसके साथ ही टर्मिनल भी बनेगा जिससे वहां ट्रेनों का परिचालन बढ़ जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य सरकार कानपुर, आगरा, वाराणसी, झांसी, इलाहाबाद, गोरखपुर आदि शहरों में भी मेट्रो सेवा के लिए प्रतिबद्ध है और भारत सरकार को इसके लिए प्रस्ताव भेजा गया है। योगी ने कहा कि इस योजना का सबसे बड़ी खासियत इसका समय से पूरा होना है। समय पर योजना का पूरा न होना राष्ट्रीय क्षति है और इसका बोझ जनता पर जाता है।

राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि आज का दिन स्वर्णिम दिन है। शिक्षक दिवस और अनंत चतुर्दशी के दिन मेट्रो के उद्घाटन ने इस अवसर की मिठास बढ़ा दी है। इस योजना के लिए केंद्र के साथ ही राज्य सरकार भी बधाई की पात्र है। उन्होंने यात्रियों की जागरूकता पर जोर दिया और कहा कि उनके सहयोग से ही इसका समुचित लाभ मिल सकता है।

इससे पहले आवास एवं शहरी कार्य राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी ने योजना के लिए मुख्यमंत्री और गृहमंत्री के साथ ही श्रीधरन और परियोजना के एमडी कुमार केशव को बधाई दी। पद्मश्री और मेट्रो मैन कहे जाने वाले श्रीधरन ने कहा कि देश में यह पहली मेट्रो है जिसका संचालन तीन साल में हुआ है। यह प्रोजेक्ट रिकार्ड समय में हुआ है। इसके लिए पूरी मेट्रो टीम को बधाई। स्वागत भाषण करते हुए परियोजना के एमडी कुमार केशव ने कहा कि यह एक कठिन प्रोजेक्ट था जिसे मॉडर्न टेक्नालॉजी से हमने हासिल किया। यह सब मेरे गुरु श्रीधरन की शिक्षा का परिणाम है। 
समारोह में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डा. दिनेश शर्मा के साथ ही मंत्रीगण आशुतोष टंडन, डा. रीता बहुगुणा जोशी, सूर्य प्रताप शाही, बृजेश पाठक, स्वाती सिंह, नंद गोपाल गुप्ता 'नंदीÓ, सुरेश पासी, कौशल किशोर आदि उपस्थित रहे। 

अटलजी को समर्पित हुई मेट्रो सेवा
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मेट्रो रेल सेवा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित की। उन्होंने कहा कि दिल्ली में पहली मेट्रो रेल का शुभारंभ पूर्व प्रधानमंत्री और लखनऊ के सांसद रहे अटलजी ने किया था और आज उन्हीं के क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हुए मेट्रो सेवा का उद्घाटन करते हुए वह गर्व महसूस कर रहे हैैं।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि अब लखनऊ की पहचान नवाबों का शहर के साथ ही मेट्रो का शहर के रूप में भी हो गई। यहां मेट्रो के साथ ही लखनऊ महानगर के विकास के द्वार पर खुल गए हैं। उन्होंने प्रोजेक्ट को सफल बनाने के लिए मेट्रोमैन को दी विशेष बधाई।

इससे पहले गृह मंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंच पर पहुंचे। राज्यपाल के साथ ही केंद्रीय मंत्री राष्ट्रगान के बाद मंच पर विराजमान हुए। कार्यक्रम स्थल पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. सीएम दिनेश शर्मा भी साथ पहुंचे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.