Wednesday, 6 September 2017

क्यों होता है आपका स्मार्टफोन हीट और इससे कैसे बचें

क्यों होता है आपका स्मार्टफोन हीट और इससे कैसे बचें


स्मार्टफोन हीटिंग की समस्या से हम सभी कभी-ना-कभी तो रूबरू होते ही हैं| कहने को तो यह एक बहुत आम समस्या है| लेकिन कई बार फोन ओवरहीटिंग की समस्या विकराल रुप ले लेती है| इससे स्मार्टफोन इंटरनली डैमेज भी हो सकता है| हाल ही में, कई ऐसे मामले भी सामने आए हैं जब फोन ओवरहीटिंग की समस्या के चलते कईं स्मार्टफोन की बैटरी तक फट गई हैं| ऐसे कई मामले सामने आए हैं जब स्मार्टफोन फ्लाइट, शॉप या जेब में ही फट गए हैं| ओवरहीटिंग फोन में एक ऐसी समस्या बन गया है जिससे उपभोक्ता को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है| इस पोस्ट में हम आपको इस समस्या से जुडी छोटी-बड़ी जानकारी और इससे कैसे बचें, इस बारे में बताने वाले हैं:

फोन वार्म, हीट और ओवरहीट के अंतर को पहचाने
सबसे पहले, आपको यह जानना जरुरी है की फोन के वार्म होने, हीट होने या ओवरहीट होने में क्या अंतर है| गेम खेलते वक्त और चार्जिंग के समय अधिकतर फोन वार्म हो जाते हैं| कई फोन हीट भी हो जाते हैं| स्मार्टफोन में 35℃ और 42℃ तक तापमान जाना आम है| लेकिन इससे ऊपर स्मार्टफोन गर्म है तो यह बिलकुल भी सामान्य नहीं है|

किन कारणों से होता है स्मार्टफोन हीट
प्रोसेसर: जब भी ओवरहीटिंग की समस्या आती है तो इसमें प्रोसेसर का सबसे बड़ा हाथ होता है| इसी के साथ, स्नैपड्रगन 810 और 615 हीटिंग इश्यूज के लिए ही जाने जाते हैं| हालांकि, ओवरहीटिंग के पीछे यही एक कारण नहीं है|
जरुरत से अधिक यूसेज: टेक एक्सपर्ट हिमांशु जुनेजा के अनुसार अगर आप अपने स्मार्टफोन का जरुरत से अधिक इस्तेमाल कर रहे हैं, जैसे की- ज्यादा प्रोसेसिंग पावर कंज्यूम करने वाली एप्स के साथ मल्टीटास्किंग, 4K रिकॉर्डिंग, हाई-एन्ड गेम्स आदि, तो आपका स्मार्टफोन वार्म हो सकता है|
स्लीक और बेजेल लैस स्मार्टफोन भी कारण: हिमांशु ने हमें यह भी बताया की स्लीक फोन्स की स्लीक बैटरी भी ओवरहीटिंग की समस्या का एक कारण है| ऐसे में जरुरी है की स्मार्टफोन में कुछ टास्क की सीमा तय कर दी जाए|


एप्स भी एक कारण: आजकल फोन में ऐसी कई एप्स होती है जो इंटरनेट से चलती हैं| इससे भी फोन नार्मल से अधिक प्रोसेस करता है और हीटिंग की समस्या आती है| इस मामले में स्मार्टफोन कूलिंग एप्स का भी प्रयोग किया जा सकता है| हालांकि इससे सीधा-सीधा आपका स्मार्टफोन कूल होता है, यह नहीं कहा जा सकता| लेकिन कुछ एप्स ऐसी हैं जो बैकग्राउंड एप्स को हाइबरनेट कर देती है| उदाहरण के लिए Greenify ऐसी एप है जो स्मार्टफोन हीट कर रही एप्स को सीमित कर देती है|
बैटरी: Li-ion बैटरीज में हीटिंग की समस्या 'थर्मल रनअवे' नाम के कारक के कारण भी होती है| इससे फोन हीटिंग और भी खतरनाक रुप ले लेती है, खासकर जब फोन मेटल बॉडी का हो|

ओवरहीटिंग से कैसे बचें
अपनी डिवाइस को ओवरहीटिंग से बचाने के लिए इस बात का ख्याल रखें की एक लम्बे समय तक किसी गेम को खेलते न रहें| इसी के साथ ज्यादा देर तक वीडियोज भी देखने से बचें| उन एप्स पर मल्टीटास्किंग करने से बचें, जिसमें अधिक प्रोसेसिंग पावर लगती है|

कभी-कभी आपके फोन की बैटरी अच्छी नहीं होती| अगर बैटरी में लगातार ओवरहीटिंग की समस्या आ रही है तो शायद अपने फोन के लिए नई बैटरी लेने का समय आ गया है |

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.