Friday, 22 September 2017

मदरसों में दीनी तालीम के साथ आधुनिक शिक्षा भी जरूरी - मुख्यमंत्री श्री चौहान



मध्यप्रदेश मदरसा बोर्ड का 20 वां स्थापना दिवस
मदरसों में दीनी तालीम के साथ आधुनिक शिक्षा भी जरूरी - मुख्यमंत्री श्री चौहान
मदरसों को अधोसंरचना विकास के लिये अब मिलेंगे सालाना 50 हजार रूपये

मदरसा बोर्ड का बनेगा आडिटोरियम
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मदरसों के अधोसंरचना विकास के लिये प्रत्येक मदरसे को मिलने वाली सालाना राशि 25 हजार रूपये से बढाकर 50 हजार कर दी जाएगी। म.प्र. मदरसा बोर्ड के लिये आडिटोरियम भी बनाया जाएगा। श्री चौहान आज यहां मदरसा बोर्ड के 20वें स्थापना दिवस और एक दिवसीय मदरसा शिक्षा सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

श्री चौहान ने कहा कि दीनी तालीम के साथ-साथ मदरसों में आधुनिक शिक्षा भी दी जाए। आधुनिक समय में बच्चों को हुनरमंद बनाना जरूरी है। एक ओर बेरोजगारी है और दूसरी ओर हुनरमंद लोग नहीं मिलते। इस स्थिति को दूर करना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चों को दीनी और आधुनिक शिक्षा साथ-साथ देते हुए उन्हें अच्छा इन्सान बनाना होगा। श्री चौहान ने बताया कि सरकार ने बच्चों की शिक्षा में किसी प्रकार का भेदभाव नही होने दिया है। सबके लिये योजनाएं हैं। विद्यार्थी ईश्वर का उत्कृष्ट उपहार हैं। इनके लिये बेहतर से बेहतर करने की जिम्मेदारी सरकार की है। उन्होने कहा कि शिक्षा का उद्देश्य विद्यार्थियों में ज्ञान का हस्तांतरण करना, उन्हें हुनरमंद बनाना और अच्छे नागरिक संस्कार देना है। श्री चौहान ने कहा कि सब मिलकर राष्ट्र की सेवा करें। 

स्कूल शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह ने कहा कि मदरसा कक्षाओं में पहली कक्षा से ही कम्प्यूटर शिक्षा दी जा रही है। उन्होंने बताया कि अन्य स्कूलों की तरह मदरसों में भी हर दिन तिरंगा फहराया जाएगा। उन्होने मदरसा बोर्ड में आधुनिक शिक्षा देने में हुई प्रगति की सराहना की। समारोह में मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष प्रो सैयद इमादुददीन ने बताया कि अब तक 2575 मदरसों का पंजीयन हुआ है जिनमें दो लाख 88 हजार बच्चे पढाई कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर उत्कृष्ट मदरसों, उत्कृष्ट मदरसा शिक्षक-शिक्षिकाओं और प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को सम्मानित किया। मदरसा बोर्ड की उल्लेखनीय प्रगति दर्शाने वाली स्मारिका का विमोचन भी किया।

समारोह में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनीस, अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री श्रीमती ललिता यादव, सासंद श्री नंद कुमार सिंह चौहान एवं श्री मनोहर ऊंटवाल, छत्तीसगढ मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष श्री ऐजाज बेग, राजस्थान मदरसा बोर्ड की श्रीमती मेहरून्निसा, केन्द्रीय हज कमेटी के सदस्य मोहम्मद इरफान, पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष श्री तपन भौमिक, दिल्ली के मुख्य इमाम श्री ओमर अहमद इलयासी उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.