Saturday, 16 September 2017

क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में आया ऑनलाइन सट्टा कंपनी का किंग , 200 करोड़ का है टर्नओवर



क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में आया ऑनलाइन सट्टा कंपनी का किंग , 200 करोड़ का है टर्नओवर



डॉन फिल्म का प्रसिद्ध डायलॉग ,डॉन का इंतजार तो 11 मुल्को की पुलिस कर रही है, आपको अच्छे से याद होगा, लेकिन 1 ऐसा आरोपी जिसका इंतजार 5 राज्यों और लगभग दर्जनभर शहर की पुलिस को थी उसको गिरफ्तार करने में इंदौर क्राइम ब्रांच ने कामयाबी हांसिल की है। आरोपी देश का ऑनलाइन सट्टा किंग है, जिस पर इंदौर पुलिस ने 20 हजार रुपयों का इनाम घोषित किया था।
दरअसल,  इंदौर क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में आया जेंटलमेन सा दिखने  वाला शख्स अचल चौरसिया कोई मामूली व्यक्ति नहीं है। लंदन से एमसीए करने के बाद देश लौटकर उसने पर्ची सट्टे का काम करने वाले अपने पिता रमेश चौरसिया के साथ मिलकर गेम किंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के नाम से कंपनी बनायी और ऑनलाइन सट्टे का काम शुरू कर दिया। उसने सट्टे का एक गेम बनाया जिसे खेलने वाले का हारना लगभग तय रहता था।अचल ने एक कॉर्पोरेट जैसे अपने गेम को देश के अधिकतर प्रदेशों में अपना नेटवर्क फैला लिया।
कुछ ही सालो में उसके इस गेम का टर्नओवर 200 करोड़ रूपये प्रतिवर्ष हो गया।  इंदौर में इस गेम को खेलने वाले एक व्यक्ति ने क्राइम ब्रांच को शिकायत की थी, जिसके बाद क्राइम ब्रांच ने कार्रवाई करते हुए इंदौर में गेम चलाने वाले 7 लोगों को गिरफ्तार किया था। लगभग ढाई साल पहले ही उसके खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया था, लेकिन वह पुलिस के कभी हाथ नहीं लगा। उसके खिलाफ मप्र, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र के लगभग डेढ़ दर्जन शहरों में प्रकरण दर्ज है, लेकिन वह आज तक किसी भी शहर की पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा। लेकिन इस बार पुलिस ने उसके मुंबई स्थित फ्लैट की पूरी तरह से घेराबंदी कर उसे गिरफ्तार कर लिया। उसे गिरफ्तार करने वाली टीम को डीआईजी ने 20 हजार रूपये इनाम देने की घोषणा की है। अचल के पकडे जाने के 6 महीने पहले इंदौर क्राइम ब्रांच ने उसके पिता रमेश चौरसिया को भी गिरफ्तार किया था। पिता-पुत्र का फ्लैट मुंबई की एक बिल्डिंग के 37वे माले पर है, जहां से भागने के लिए इन्होने खुफिया रास्ता भी बनाया हुआ है। इसके पिता रमेश चौरसिया को गिरफ्तार करते समय पुलिस को खुफिया रास्तों की जानकारी लग गयी थी और इसी वजह से इस बार पुलिस उसे गिरफ्तार कर सकी है।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.