Thursday, 7 September 2017

श्रीलंका के खिलाफ इकलौते टी-20 में विराट ने बना डाले 7 वर्ल्ड रिकॉर्ड

.


कप्तान विराट कोहली की एक और बेहतरीन पारी के दम पर भारत ने आज यहां श्रीलंका को एकमात्र टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सात विकेट से करारी शिकस्त दी और हर क्रिकेट के फॉर्मेट में क्लीन स्वीप करने का अपना अभियान बरकरार रखकर वर्तमान दौरे का शानदार अंत किया. श्रीलंका ने टॉस गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट पर 170 रन बनाए. दिलशान मुनावीरा ने 29 गेंदों पर पांच चौकों ओर चार छक्कों की मदद से 53 रन की तेजतर्रार पारी खेली. अशान प्रियरंजन 40 गेंदों पर नाबाद 40 रन बनाये और इसुरू उदाना (नाबाद 19) के साथ डेथ ओवरों में अच्छे रन बटोरकर आठवें विकेट के लिए 20 गेंदों पर 36 रन की अटूट साझेदारी की.

अपना 50वां मैच खेल रहे कोहली के सामने हालांकि इन तीनों का प्रयास फीका पड़ गया. भारतीय कप्तान ने सलामी जोड़ी के जल्दी पवेलियन लौटने के बाद 54 गेंदों पर 82 रन की पारी खेली जिसमें सात चौके और एक छक्का शामिल है. उन्होंने मनीष पांडे (36 गेंदों पर नाबाद 51) के साथ तीसरे विकेट के लिये 119 रन जोड़े. इससे भारत ने 19.2 ओवर में तीन विकेट पर 174 रन बनाकर आसानी से लक्ष्य हासिल किया.

कुछ ऐसी रही 'विराट' पारी
बुधवार को खेले गए इकलौते वनडे  मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शानदार बैटिंग करते हुए टी-20 करियर का 17वां शतक जड़ा. वे 54 बॉल पर 82 रन बनाकर आउट हो गए. अपनी इस शानदार पारी में उन्होंने 7 चौके और 1 छक्का भी लगाया. बता दें कि जब विराट जब बल्लेबाजी करने आए थे, तब 22 रन पर भारत का पहला विकेट गिर गया था, इसके बाद उन्होंने लोकेश के साथ 22 रन जोड़े.  लोकेश के आउट होने के बाद विराट ने चौथे विकेट के लिए मनीष पांडे के साथ 119 रन की साझेदारी कर भारत की जीत तय कर दी.
टीम की जीत से केवल 10 रन पहले ही वे उडाना की बॉल पर शनाका को कैच देकर आउट हुए.

ये करिश्मा करने वाले दुनिया के पहले कप्तान बने विराट
भारत ने इस तरह से वर्तमान दौरे में अपने सभी मैच जीते. उसने टेस्ट सीरीज में 3-0 और वनडे सीरीज में 5-0 से क्लीन स्वीप किया था. इस तरह से उसने इस दौरे में 9-0 से श्रीलंका का सूपड़ा साफ किया. भारत पहली मेहमान टीम है जिसने किसी विदेशी दौरे के तीनों प्रारूपों में सभी मैच जीते. टेस्ट और वनडे सीरीज में क्लीन स्वीप करने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम ने श्रीलंका को एक टी-20 मैच में भी हरा दिया. बुधवार रात खेले गए इस मैच में टीम इंडिया को 7 विकेट से जीत मिली. मेहमान टीम ने इस टूर पर मेजबान टीम का पूरी तरह से सफाया कर दिया. ये इस टूर पर टीम इंडिया की लगातार नौवीं जीत थी, और इसके साथ ही उसने एक नया रिकॉर्ड भी बना दिया.

बता दें कि इससे पहले क्रिकेट के तीनों फॉर्मेटों में लगातार 9 मैच जीतकर क्लीन स्वीप करने वाली टीम ऑस्ट्रेलिया थी. उसने साल 2009-10 में पाकिस्तान को 9-0 से हराया था, लेकिन ऑस्ट्रेलिया का ये रिकॉर्ड उसकी घरेलू धरती पर बना था.

सबसे तेज 15 हजार रन बनाने वाले खिलाड़ी बने कोहली
अपना 50वां टी20 मैच खेल रहे भारतीय कप्तान ने इस दौरान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 15000 रन भी पूरे किए. इस मुकाम पर पहुंचने वाले वह भारत के 7वें और दुनिया के 33वें बल्लेबाज बने. इसी के साथ विराट कोहली ने दुनिया में सबसे तेजी से 15 हजार रन पूरे किए. उन्होंने सिर्फ 333वीं अंतरराष्ट्रीय पारी में ये मुकाम हासिल किया. इससे पहले ये रिकॉर्ड हाशिम आमला के नाम था, जिन्होंने 336 पारियों में 15000 अंतरराष्ट्रीय रन पूरे किए थे. बता दें कि कोहली ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में अबतक 15075 रन (टेस्ट में 4658, वनडे में 8587 और टी-20 में 1830 रन) बना चुके हैं.

विराट ने लगाया चौथा अर्धशतक
विराट कोहली ने श्रीलंका के खिलाफ लगातार चौथा टी-20 अर्धशतक जड़ा. ऐसा करने वाले विराट कोहली दुनिया के इकलौते खिलाड़ी हैं. विराट श्रीलंका के अलावा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी लगातार 4 टी-20 अर्धशतक जमा चुके हैं. कोहली ने 30 गेंदों पर अपने टी-20 करियर का 17वां अर्धशतक पूरा किया. वह अपने 50वें टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में पचासा जड़ने वाले दुनिया के केवल चौथे बल्लेबाज हैं.

50वें टी-20 में अर्धशतक
विराट कोहली ने अपने करियर का 50वां टी-20 मैच खेला और उसमें शानदार अर्धशतक लगाया. ऐसा करने वाले वो सिर्फ चौथे बल्लेबाज हैं. तिलकरत्ने दिलशान, ऑयन मॉर्गन, शाहिद अफरीदी भी अपने 50वें टी-20 में अर्धशतकीय पारियां खेल चुके हैं.

विराट ने की सुरेश रैना की बराबरी
विराट कोहली अब ऐसे दूसरे भारतीय कप्तान बन गए हैं, जिन्होंने कप्तान के तौर पर अर्धशतकीय पारी खेली है. सुरेश रैना ने जिम्बाब्वे के खिलाफ 2010 में कप्तान के तौर पर नाबाद 72 रन की पारी खेली थी. बता दें कि एमएस धोनी ने कभी टीम इंडिया का कप्तान रहते हुए टी-20 में अर्धशतक नहीं जड़ा. कोहली के इस मैच में 82 रन बनाए. किसी भी भारतीय कप्तान का टी-20 में बनाया गया सर्वाधिक स्कोर है. उनसे पहले ये रिकॉर्ड सुरेश रैना के नाम था, जिन्होंने जिम्बाब्वे के खिलाफ साल 2010 में नाबाद 72 रन बनाए थे.

लक्ष्य का पीछा करते हुए नंबर 1 टी-20 बल्लेबाज बने कोहली
विराट कोहली अब वनडे में लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं. कोहली ने चेज करते हुए 25 मैचों की 21 पारियों में 84.66 की औसत से 1,016 रन बनाए हैं. इस तरह से उन्होंने ब्रैंडन मैक्कलम को पीछे छोड़ दिया जिन्होंने 1,006 रन बनाए थे.

टी-20 में सबसे ज्यादा रन बनाने में नंबर 3
विराट कोहली 1830 रनों के साथ टी-20 इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में तीसरे नंबर पर पहुंच गए हैं. उन्होंने न्यूजीलैंड के मार्टिन गुप्टिल (1806 रन) को पीछे छोड़कर ये मुकाम हासिल किया है. उनसे ऊपर तिलकरत्ने दिलशान (1,889) और ब्रैंडन मैक्कलम (2,140) ही हैं.

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.