Saturday, 16 September 2017

एसडीएम को नहीं भगवान को दिया राष्ट्रपति के नाम अपनी मांगों का ज्ञापन किसानों ने सरकार की सदबुद्धि के लिए निकाली वाहन रैली ------------------------------------------ एसडीएम को नहीं भगवान को दिया राष्ट्रपति के नाम अपनी मांगों का ज्ञापन ------------------------------------------ चौरई (छिन्दवाड़ा)के सैकड़ों किसान शुक्रवार को शिवराज सरकार के खिलाफ सड़क पर उतर आए और कांग्रेस किसान मोर्चा के बैनर तले शिवराज सरकार की सदबुद्धि के लिए विशाल वाहन रैली निकाली। वाहन रैली माता मंदिर परिसर बिछुवा से प्रारम्भ हुई और चाँद होते हुए ग्राम कपुरदा (चौरई ) पहुँची। रैली में किसान अपने -अपने वाहनों पर सरकार विरोधी नारे लिखी तख्तियां लगाए हुए थे। और यह सरकार निकम्मी है, शिवराज सरकार अब बदलनी है जैसे नारे लगा रहे थे। चौरई में किसानों ने कांग्रेस किसान मोर्चा के अध्यक्ष नवीन पटेल के नेतृत्व में महामहिम राष्ट्रपति के नाम 10 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन एसडीएम को नहीं देकर मंदिर में माता रानी को सौंपा। इसके पूर्व किसानों की सभा हुई, जिसमें कांग्रेस किसान मोर्चा के अध्यक्ष श्री नवीन पटेल ने शिवराज सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि, मुख्यमंत्री खुद को किसान पुत्र कहते हैं, लेकिन सचमुच में वे किसानों के दुश्मन हैं। सरकार सिर्फ किसानों को प्रताड़ित कर रही है। किसानों को सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। इसके साथ ग्यापन में किसानों को उनकी उपज का सरकार द्वारा सर्मथन मूल्य तय करने, खराब हुई और जानवरों द्वारा नष्ट की गई फसलों का मुआवजा देने और किसानों के बिजली बिल माफ करने की मांग की गई है।

एसडीएम को नहीं भगवान को दिया राष्ट्रपति के नाम अपनी मांगों का ज्ञापन

किसानों ने सरकार की सदबुद्धि  के लिए निकाली वाहन रैली
------------------------------------------
 एसडीएम को नहीं भगवान को दिया राष्ट्रपति के नाम अपनी मांगों का ज्ञापन
------------------------------------------
 चौरई (छिन्दवाड़ा)के सैकड़ों किसान शुक्रवार को शिवराज सरकार के खिलाफ सड़क पर उतर आए और कांग्रेस किसान मोर्चा के बैनर तले शिवराज सरकार की सदबुद्धि के लिए विशाल वाहन रैली निकाली।
वाहन रैली माता मंदिर परिसर बिछुवा से प्रारम्भ हुई और  चाँद होते हुए ग्राम कपुरदा (चौरई ) पहुँची। रैली में किसान अपने -अपने वाहनों पर सरकार विरोधी नारे लिखी तख्तियां लगाए हुए थे। और यह सरकार निकम्मी है, शिवराज सरकार अब बदलनी है जैसे नारे लगा रहे थे। चौरई में किसानों ने कांग्रेस किसान मोर्चा के अध्यक्ष नवीन पटेल के नेतृत्व में महामहिम राष्ट्रपति  के नाम 10 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन एसडीएम को नहीं देकर मंदिर में माता रानी को सौंपा।
इसके पूर्व किसानों की सभा हुई, जिसमें कांग्रेस किसान मोर्चा के अध्यक्ष श्री नवीन पटेल ने शिवराज सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि, मुख्यमंत्री खुद को किसान पुत्र कहते हैं, लेकिन सचमुच में वे किसानों के दुश्मन हैं। सरकार सिर्फ किसानों को प्रताड़ित कर रही है। किसानों को सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। इसके साथ ग्यापन में किसानों को उनकी उपज का सरकार द्वारा सर्मथन मूल्य तय  करने, खराब हुई और जानवरों द्वारा नष्ट की गई फसलों का मुआवजा देने  और किसानों के बिजली बिल माफ करने की मांग की गई है।

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.