Thursday, 24 August 2017

हरियाणा-पंजाब में तनाव, 15000 अर्धसैनिक बल तैनात, मोबाइल इंटरनेट, बस-ट्रेन सेवा ठप

हरियाणा-पंजाब में तनाव, 15000 अर्धसैनिक बल तैनात, मोबाइल इंटरनेट, बस-ट्रेन सेवा ठप


डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ दायर यौन उत्पीड़न के एक मामले में 25 अगस्त को सीबीआई की एक अदालती फैसला सुनाने वाली है. लेकिन इससे पहले हरियाणा और पंजाब में तनावपूर्ण स्थिति बहाल हो गयी है. ऐसा इसलिए क्योंकि बाबा राम रहीम के करीब 7 लाख भक्त पंचकूला में सीबीआई अदालत के सामने पहुंचने लगे हैं.
 
इसको लेकर हरियाणा और पंजाब में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है और सुरक्षा के मद्देनजर पंजाब हरियाणा और चंडीगढ़ में अगले 72 घंटे के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद करने का ऐलान किया गया है. इसके अलावा अगले 72 घंटे के लिए पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ की तरफ आने वाली ट्रेनों को रोकने के निर्देश दिए गए हैं और दोनों राज्यों में बस सर्विस को भी बंद करने का आदेश दिया गया है. अधिकारियों ने कहा कि दोनों राज्यों और उनकी संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में मोबाइल इंटरनेट सेवा पर अगले 72 घंटे तक रोक रहेगी और सोशल मीडिया पर पोस्ट की जाने वाली सामग्री पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है. अधिकारियों ने पंचकुला के लिये बस और रेल सेवा भी रोक दी है.

15000 अर्धसैनिक बल तैनात
पुलिस और प्रशासन ने सभी हालात से निपटने की तैयारी कर ली है. प्रशासन को डर है कि इस मामले में अगर फैसला डेरा प्रमुख के खिलाफ आया तो कानून-व्यवस्था के लिये चुनौतीपूर्ण हालात हो सकते हैं. इसे देखते हुये पंजाब और हरियाणा के संवेदनशील इलाकों में 15000 अर्धसैनिक बलों समेत हजारों की संख्या में जवानों को तैनात किया गया है. पंजाब और हरियाणा में डेरा सच्चा सौदा के काफी अनुयायी हैं और इसे देखते हुये दोनों राज्यों में हाई अलर्ट जारी किया गया है.

केंद्र ने किसी भी स्थिति से निपटने के लिए हर संभव मदद का आश्वासन दिया
केंद्र ने भी पंजाब और हरियाणा सरकारों को किसी भी स्थिति से निपटने के लिए हर संभव मदद का आश्वासन दिया है. दिल्ली में गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा हम पंजाब और हरियाणा सरकारों के साथ लगातार संपर्क में हैं. जिस भी मदद की जरुरत होगी हम उपलब्ध करायेंगे. राज्य सरकार ने कहा कि कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बनाये रखने के लिए सेना की भी मदद लेने की अगर जरूरत पड़े ले सकते हैं.
 
क्रिकेट स्टेडियम को बनाया गया है अस्थायी जेल
हरियाणा के पुलिस महानिदेशक बीएस संधू पिछले कुछ दिनों में पहले ही सिरसा, फतेहाबाद, हिसार और अन्य स्थानों सहित राज्य के संवेदनशील जिलों का दौरा कर चुके हैं जबकि पंजाब पुलिस के उनके समकक्ष सुरेश अरोडा ने कल बठिंडा, मनसा, मोगा, पटियाला, लुधियाना, फतेहगढ साहिब और मोहाली जिलों का दौरा किया और तैयारियों की जांच की.
 
बंठिडा में भारी सुरक्षा बल तैनात किया गया है जिसकी सीमा हरियाणा के सिरसा से लगती है जहां डेरा का मुख्यालय है. केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ के गृह विभाग ने सेक्टर 16 में स्थित क्रिकेट स्टेडियम को 25 अगस्त को अस्थायी जेल घोषित किया है. अधिकारियों ने कहा है कि 'अस्थायी जेल ' ' में ऐसे लोगों को रखा जाएगा जिनपर शुक्रवार को कानून एवं व्यवस्था की समस्या पैदा करने का संदेह होगा.
 
अधिकारियों की छुट्टी अगले आदेश तक रद्द 
पंचकूला में सीबीआई अदालत के निर्णय के मद्देनजर हरियाणा सरकार ने सभी उपायुक्तों,उपमंडलीय अधिकारियों (नागरिक) और हरियाणा नागरिक सेवाओं के अन्य अधिकारियों को अगले आदेशों तक छुट्टी पर नहीं जाने के निर्देश दिये हैं. हरियाणा कर्मचारी विभाग की प्रवक्ता ने बताया कि जिन कर्मचारियों की छुट्टियां मंजूर हो गयी थीं वे रद्द हो गयी हैं. हरियाणा स्वास्थ्य विभाग ने भी 30 अगस्त तक सभी चिकित्सा और अर्द्धचिकित्सा कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं. 

24 और 25 अगस्त को बंद रहेंगे स्कूल और कॉलेज
पंचकुला की उपायुक्त गौरी पराशर जोशी ने कहा कि एहतियाती उपाय के तौर पर, सरकार ने 24 और 25 अगस्त को पंचकुला जिले में स्कूलों और कॉलेजों को बंद करने का आदेश दिया है. डेरा प्रमुख के साथ अपनी एकजुटता दिखाने के लिए पंचकुला के सेक्टर 23 में स्थित पंथ के ' 'नाम चर्चा घर ' ' में पंथ के अनुमानित तौर पर 35,000 से ज्यादा अनुयायी पहुंच गए हैं और बहुत से और आ रहे हैं. डेरा प्रमुख को शुक्रवार को सीबीआई की विशेष अदालत में पेश होने को कहा गया है. जोशी ने कहा कि प्रशासन और पुलिस कानून एवं व्यवस्था बनी रहे यह सुनिश्चित करने के लिए नजर रख रहे है.
 
पुलिस सभी स्थितियों से निपटने की तैयारी में
चंडीगढ़ के अलावा पुलिस ने दोनों राज्यों में कई स्थानों पर बेरिकेड्स लगाए हैं जहां अदालत के आदेश से पहले सुरक्षा को कड़ा कर दिया गया है. 'नाम चर्चा घरों ' ' में डेरा के अनुयायी पेट्रोल, लाठी और अन्य हथियारों से लैस होकर आ सकते हैं, ऐसी खबरों के बीच, पंजाब पुलिस ने अपने सभी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों और अन्य शीर्ष पुलिस अधिकारियों से कहा है कि अगर अदालत का फैसला डेरा प्रमुख के खिलाफ आता है तो ऐसी स्थिति में वे इस बात पर नजर रखें कि अनुयायी उग्र न हो जायें. हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) राम निवास ने कहा कि राज्य में डेरा के ' 'नाम चर्चा घर ' ' में अनुयायियों के लाठी या हथियार लेने जाने पर रोक लगा दी गयी है.
 
जरुरत हुई तो राज्य सरकार सेना बुलायेगी
रामनिवास ने पत्रकारों के सवालों के जवाब में कहा यदि जरुरत हुई तो राज्य सरकार सेना बुलायेगी और समय तथा परिस्थितियों के अनुसार जरुरत होने पर कर्फ्यू भी लगायेगी तथा कानून एवं व्यवस्था की स्थिति को बनाये रखने के लिए सभी कदम उठायेंगी. उन्होंने कहा कि आतंरिक सूत्रों से हरियाणा को अर्द्धसैनिक बलों की आठ टुकडियां और अतिरिक्त 2,500 पुलिसकर्मी मिले हैं. उन्होंने कहा कि संवेदनशील स्थानों पर बुधवार शाम तक 10 वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों को तैनात किया जायेगा. भीड़ को काबू में करने के लिए करीब 2,000 होमगार्ड को बुलाया गया हैं और राज्य में किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पर्याप्त सुरक्षा प्रबंध किये गये हैं.

बड़ी संख्या में लगाये जाएंगे सीसीटीवी कैमरे
सिरसा के उपायुक्त प्रभजोत सिंह ने नगर निगम पार्षदों के साथ एक बैठक करके उनसे धार्मिक संस्थानों और अपने अपने वार्ड में सरकारी और अन्य संपत्तियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कहा. उन्होंने सिरसा जिले में शैक्षणिक संस्थानों, दुकानों के मालिकों,मकान मालिकों,पेट्रोल पम्प और अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठानों से अपने परिसरों में सीसीटीवी कैमरे लगाना सुनिश्चित करने के लिए कहा.

No comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.